Sun Halo Effect:  सूरज के चारों ओर नजर आया कुछ इस तरह का घेरा, जानिए क्या है वजह

Sun Halo Effect: सूरज के चारों ओर नजर आया कुछ इस तरह का घेरा, जानिए क्या है वजह

जशपुर। Sun Halo Effect : कृषि विज्ञान केंद्र डूमरबहार जशपुर में यह खास नजारा कैमरे में कैद किया गया। यह घटना यहां लगभग 30 मिनट तक देखी गई। नजदीकी एक मंदिर से दृश्य देख रहे कुछ स्थानीय लोगों ने बताया कि हनुमान जयंती के दिन ऐसा नजारा पिछले वर्षों में भी देखा गया है, हो सकता है यह कोई संयोग ही हो।

आमतौर पर बोलचाल की भाषा में इस घटना को सूरज की अंगूठी कहा जाता है। दूसरी भाषा में इसे शीतकालीन प्रभामंडल Sun halo effect कहते हैं। वैसे तो यह ठंडे देशों में एक बहुत ही सामान्य घटना है, लेकिन हमारे देशों में यह घटना दुर्लभ है और इसकी भविष्यवाणी नहीं की जा सकती। वैसे इस इलाके में कभी- कभी ऐसा दृश्य देखने को मिल जाता है। जब सूर्य के 22 डिग्री वृत्ताकार स्थिति में सूर्य या चंद्रमा की किरणें सिरस (रेशेदार उच्च स्तर के बादल) बादलों में मौजूद बर्फ के क्रिस्टल के माध्यम से अपवर्तित हो जाती हैं, तब इस तरह का दृश्य देखने को मिलता है।

इस तरह के सिरस बादलों का निर्माण आम तौर पर तब होता है जब जल वाष्प बर्फ की क्रिस्टल में पृथ्वी की सतह से पांच से दस किलोमीटर की ऊंचाई पर बर्फ के क्रिस्टल में जम जाता है

Sun halo effect के बारे में और ज्यादा जानने के लिए यहां क्लिक करें-

द्रोणिका के प्रभाव से यहां इन दिनों मौसम बदला हुआ है और आसमान में हल्के बादल भी छाए हैं। मौसम विशेषज्ञों का कहना है कि यहां की परिस्थितियां सिरस बादल बनने के लिए अनुकूलता प्रदर्शित कर रही हैं जिसकी वजह से यह दृश्य देखा गया।

छत्तीसगढ़ जशपुर विज्ञान तकनीकी