Social Media: नफरत फैलाने वाली विभाजनकारी पोस्ट से भरी पड़ी है आतंकी यासीन मलिक की पत्नी की सोशल मीडिया वॉल, अब आंसू बहा कर हमदर्दी हासिल करने की कोशिश

Social Media: नफरत फैलाने वाली विभाजनकारी पोस्ट से भरी पड़ी है आतंकी यासीन मलिक की पत्नी की सोशल मीडिया वॉल, अब आंसू बहा कर हमदर्दी हासिल करने की कोशिश

श्रीनगर। (हिमांशु शर्मा) Social media: कश्मीरी पंडितों के साथ आज से 32 साल पहले हुई बर्बरता का चित्रण द कश्मीर फाइल फिल्म के माध्यम से लोगों को देखने को मिला।

फिल्मकार विवेक रंजन अग्निहोत्री ने एक ऐसी फिल्म बनाई जिसने सालों से दबे हुए कश्मीरी पंडितों पर हुए जुल्म की दास्तान को समाज के सामने लाने का बड़ा काम किया। देश- दुनिया में लोग इस फिल्म को देख रहे हैं और अब उन्हें इस बात का आश्चर्य हो रहा है कि कश्मीरी पंडितों के साथ इतनी भयानक हिंसा आखिर कैसे हुई और इतने दिनों तक यह कहानी दबी कैसी रही?

साल 1990 में जिन परिस्थितियों में कश्मीरी पंडितों का वहां से पलायन हुआ था वह देखकर लोगों के रोंगटे खड़े हो जा रहे हैं। आतंकियों के नेता यासीन मलिक और हत्यारे बिट्टा कराते की करनी भी इस फिल्म के माध्यम से लोगों के सामने आई है जिसके बाद इनके प्रति लोगों की नफरत बढ़ गई है। यही यासीन मलिक एक समय में कश्मीर में युवाओं का आइकॉन कहा जाता था और तत्कालीन सरकार ने इसे इसी रूप में पेश करते हुए संरक्षण प्रदान किया था। कश्मीर में इन आतंकियों के इशारे पर पंडित समुदाय के मर्दों को बेरहमी के साथ मारा गया। महिलाओं से बलात्कार किए गए थे। कश्मीर घाटी में उस वक्त नारा लगाया जाता था कि ‘पंडित से कश्मीर भाग जाओ, अपनी बहन बेटियों को यहीं छोड़ जाओ।’

यासीन मलिक आज तिहाड़ जेल में है और अपने किए की सजा काट रहा है। दूसरी तरफ उसकी पाकिस्तानी पत्नी भारत सरकार को कोस रही है और सोशल मीडिया पर रोने धोने वाली वीडियो पोस्ट करते हुए सस्ती हमदर्दी हासिल करने की कोशिश कर रही है। यासीन मलिक की इस पाकिस्तानी पत्नी का नाम मुशाल मलिक है, जो यासीन मलिक से उम्र में करीब 20 साल छोटी है। जब अलगाववादी नेता यासीन मलिक पाकिस्तान गया हुआ था और वहां आतंकियों के सामने स्पीच दे रहा था, उसी स्पीच से प्रभावित होकर मुशाल ने उससे शादी करने का फैसला किया था।

शादी के बाद मुशाल लगातार अपने पति की आतंकी गतिविधियों में उसका साथ देती रही। इस बीच उसने एक सोशल और ह्यूमन राइट एक्टिविस्ट का चोला पहन रखा है। मुशाल मलिक पीस एंड कल्चर ऑर्गेनाइजेशन की चेयरमैन है। मुशाल खुद को सोशल एक्टिविस्ट बताती है। उसकी सोशल मीडिया वॉल अलगाववादी और समाज में नफरत फैलाने वाली पोस्ट से भरी हुई है। वह अपनी पोस्ट में आतंकियों को देश का हीरो बताती है और इंडियन आर्मी को कश्मीर का दुश्मन। यासीन मलिक इस वक्त भले ही जेल में हो, लेकिन उसकी पत्नी अपनी सोशल मीडिया गतिविधियों के जरिए समाज में अलगाववाद फैलाने का काम उसकी जगह जारी रखे हुए है।

विशेष आलेख सोशल मीडिया