Raipur: जैन मुनियों के खिलाफ अपमानजनक टिप्पणी करने वाले नेता के खिलाफ समाज ने खोला मोर्चा, थाने में दर्ज कराई शिकायत

Raipur: जैन मुनियों के खिलाफ अपमानजनक टिप्पणी करने वाले नेता के खिलाफ समाज ने खोला मोर्चा, थाने में दर्ज कराई शिकायत

रायपुर। Raipur: छत्तीसगढ़ क्रांति सेना के प्रदेश अध्यक्ष अमित बघेल के खिलाफ जैन समाज के प्रतिनिधियों ने अपना मोर्चा खोल दिया है। अल्पसंख्यक जैन समाज के धर्म गुरुओं पर की गई अभद्र टिप्पणी की निंदा करते हुए अमित बघेल के विरुद्ध आज एक शिकायत सकल जैन समाज द्वारा सीएसपी थाना कोतवाली के समक्ष दर्ज कराई गई है।

जैन समाज की ओर से आरोप लगाया गया है कि बुधवार को आदिवासी समाज के आह्वान पर छत्तीसगढ़ के बालोद जिले के ग्राम तूएगोंदी, थाना गुंडरदेही, जिला बालोद, छत्तीसगढ़ में आदिवासियों पर हुए हमलों को लेकर बालोद जिला बंद का आह्वान किया गया था।

इसी दौरान मंच से छत्तीसगढ़ क्रांति सेना के प्रदेश अध्यक्ष अमित बघेल के द्वारा अल्पसंख्यक जैन समाज के धार्मिक गुरुओं के खिलाफ अभद्र, अनर्गल व घटिया शब्दों का प्रयोग करते हुए जैन समाज का अपमान किया था।

सकल जैन समाज श्री दिगम्बर जैन मंदिर पंचायत ट्रस्ट मालवीय रोड रायपुर के प्रचार प्रसार प्रमुख राजीव जैन और प्रणीत जैन ने कहा कि, सारे विश्व में अहिंसा का पाठ पढ़ाने वाले, आपसी प्रेम सद्भाव एवं भाईचारा बढ़ाने वाले, जियो और जीने दो का संदेश देने वाले और जगत के सभी प्राणिमात्र के प्रति करुणा भाव धारण करने वाले जैन मुनियों के बारे में ऐसी धारणा रखने वाले और खुले मंच से उनके प्रति ऐसी घटिया भाषा का प्रयोग करने वाले कि मानसिकता का अंदाजा स्वयं लगाया जा सकता है।

यह छत्तीसगढ़ राज्य जो कि आपसी प्रेम और सद्भाव के लिए जाना जाता है। इस तरह की बात इस प्रेम सद्भाव के वातावरण में जहर घोलने वाला कृत्य है। अगर शासन इस प्रकार के कृत्य पर संज्ञान लेकर कार्यवाही नहीं करेगी तो भविष्य में सभी जाति, विशेषकर अल्पसंख्यकों को परेशानी होगी।

सकल जैन समाज मिलकर 28 मई को जिलाधीश के मार्फत राज्यपाल व माननीय मुख्यमंत्री से निवेदन करेंगे कि ऐसे कुकृत्य करने वालों के खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्यवाही की जाए व शीघ्रातिशीघ्र गिरफ्तारी की जाए।

उन्होंने आगे कहा कि सरकार यदि समाज में असाम्प्रदायिकता का माहौल बनाने वाले ऐसे असामाजिक व्यक्ति के खिलाफ आवश्यक कार्यवाही नहीं करती है तो समस्त छत्तीसगढ़ प्रदेश के सकल जैन समाज मिलकर बड़ आंदोलन करने को मजबूर होंगे।

छत्तीसगढ़ रायपुर