फाइनेंसियल फ्रॉड से लोगों को बचाने के लिए पुलिस ने कसी कमर, विशेष पुलिस महानिदेशक ने दिए यह निर्देश

फाइनेंसियल फ्रॉड से लोगों को बचाने के लिए पुलिस ने कसी कमर, विशेष पुलिस महानिदेशक ने दिए यह निर्देश

रायपुर। विशेष पुलिस महानिदेशक, तकनीकी सेवाऐं, आर. के. विज के द्वारा महिला व बच्चों संबंधित लंबित साइबर अपराध की शिकायतों एवं आम नागरिकों के साथ हो रहे फायनेंसियल फ्राॅड विषय पर जिलों के नोडल अधिकारियों (अति. पुलिस अधीक्षक) की विडियो कान्फ्रेसिंग के माध्यम से समीक्षा बैठक ली गई। इसमें जिन जिलों की  शिकायतें जो लम्बे समय तक लंबित थे, उन शिकायतों के निकाल की प्रक्रिया को दुरूस्त करने हेतु निर्देश दिए गए। आर.के. विज के द्वारा कुछ रेंज के थानों में फ्राड संबंधी साइबर अपराध कम दर्ज पर आपत्ति की साथ ही नोडल अधिकारियों को लंबित फ्राड संबंधित शिकायतों की समीक्षा करने का निर्देश दिया। जिसमें आम नागरिकों को फ्राड संबंधित  मामलों में न्याय मिल सके। साइबर अपराधों एवं फायनेंसियल फ्राॅड की रोकथाम तथा आरोपियों को  पकड़ने के महत्व को समझने हेतु जिले के नोडल  अधिकारियों को महत्वपूर्ण निर्देश दिए गए। फायनेंसिंयल फ्राॅड की शिकायतों को भारत सरकार द्वारा संचालित नेशनल साइबर क्राईम रिपोर्टिंग पोर्टल पर दर्ज करने तथा हेल्पलाईन नंबर – 155260 पर 24’7 काॅल कर सहायता प्राप्त करने हेतु आम नागरिकों को जागरूक करने एवं प्रचार-प्रसार करने हेतु निर्देश दिए गए। फायनेंसियल फ्राॅड की शिकायतों को पोर्टल पर दर्ज करने हेतु थानो में पदस्थ अधिकारी/कर्मचारियों को व्यापक प्रशिक्षण चलाने के निर्देश दिए गए। उल्लेखनीय है कि पोर्टल के माध्यम से फाॅयनेंसियल फ्राॅड की शिकायतों पर अभी तक कुल ₹ 1603392 रूपये को राज्य में होल्ड कराया गया है और आरोपी तक धनराशि नहीं पहुंच पाई। आर.के. विज के द्वारा  नोडल अधिकारियों को थानों में लगाए जाने वाले सी.सी.टी.व्ही. कैमरे के उपयोगिता एवं महत्व के संबंध में भी अवगत कराया गया तथा नागरिकों को सी.सी.टी.व्ही. कैमरे के संबंध में जागरूक कर प्रचार-प्रसार करने के निर्देष दिए गए। विडियो कान्फ्रेसिंग के दौरान सहायक पुलिस महानिरीक्षक (तकनीकी सेवाऐं) मनीष शर्मा एवं सी.सी.पी.डब्ल्यू.सी. के  अधिकारी मौजूद रहे।

छत्तीसगढ़ रायपुर