पब्लिक नल में मिनरल वाटर की सप्लाई करने वाला देश का पहला शहर बना उड़ीसा का पुरी

पब्लिक नल में मिनरल वाटर की सप्लाई करने वाला देश का पहला शहर बना उड़ीसा का पुरी

पुरी। भारत में कई इलाके ऐसे हैं जहां लोगों को कई दिनों तक पीने का पानी उपलब्ध ही नहीं होता है। सुदूर जंगली ग्रामीण इलाकों में लोग गड्ढों का गंदा पानी निथार कर पीते हैं। कई बड़े आबादी वाले इलाके ऐसे हैं जहां स्वक्ष पीने का पानी लोगों को मुहैया नहीं हो पाता। बड़े शहरों में नल में पानी आता तो है, लेकिन ये इतना गंदा होता है और इसे बिना फिल्टर किए उपयोग नहीं किया जा सकता। ऐसे में RO में फिल्टर होने के बाद पानी से जरूरी मिनरल्स निकल जाते हैं साथ ही पानी की बर्बादी भी काफी होती है। ऐसे में हर राज्य को ओडिशा से सीख लेने की जरूरत है। उड़ीसा का पुरी शहर देश का ऐसा पहला शहर बन गया है जहां आम जनता के लिए सप्लाई किए जाने वाला नल का पानी 100% शुद्ध मिनरल्स पेयजल है।

click here for download this app from Play Store📲

य़हां 24 घंटे लोगों को नल के जरिए पीने का स्वच्छ पानी उपलब्ध होगा। नल का पानी इतना साफ होगा कि इसे फिल्टर करने की जरूरत ही नहीं होगी। ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने हालही में पुरी में ‘नल से पेयजल’ मिशन का उद्घाटन किया है। पुरी जगन्नाथ यात्रा के लिए प्रसिद्ध है। इस शहर की आबादी ढ़ाई लाख है। ऐसे में इस योजना का लाभ शहर के लोगों को तो मिलेगा ही साथ ही हर साल इस पवित्र स्थान की यात्रा पर आने वाले करीब दो करोड़ पर्यटकों को भी मिलेगा। मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने इस मिशन का उद्घाटन करते हुए कहा कि हर घर को नल से गुणवत्तापूर्ण पेयजल उपलब्ध कराना एक परिवर्तनकारी परियोजना है और पुरी को विश्व स्तरीय धरोहर शहर बनाने की दिशा में एक अहम कदम है। सीएम ने आगे कहा कि ओडिशा के हर घर में नल से पानी पहुंचाना मेरा सपना है और यह अब हकीकत में बदल रहा है। सीएम ने कहा कि पेयजल का बजट पांच साल में 200 करोड़ रुपये से बढ़कर 4000 करोड़ रुपये हो गया है।

मल्टीमीडिया राष्ट्रीय