किचन में लग गई थी आग और नींद में सोए थे घरवाले, ब्रावो ने दिखाई समझदारी, ऐसे बचाई जान

किचन में लग गई थी आग और नींद में सोए थे घरवाले, ब्रावो ने दिखाई समझदारी, ऐसे बचाई जान

नोएडा। “मैं ब्रावो के हमारे बेडरूम के दरवाजे पर लगातार भौंकने और तेज़ आवाज से चिढ़ गया था। जब मैंने यह देखने के लिए दरवाजा खोला कि क्यों वह इस तरह से भौंक रहा है, तो मैंने पाया कि पूरा घर धुएं से भर गया था,” 38 वर्षीय शेष सारंगधर यह बातें बताई, जो नोएडा में एक आईटी कंपनी चलाते हैं। ब्रावो एक इंडी नस्ल का डॉगी है जिसे उन्होंने इसी साल मार्च में अपनाया था।

शेष ने आगे बताया कि घर की जांच करने पर हमने पाया कि रसोई में चूल्हे और लकड़ी के फर्नीचर में आग लगी हुई थी। तेजी से काम करते हुए हमने बाल्टी से पानी डालकर आग पर काबू पाना शुरू किया। यह हमारे लिए एक अचानक घटा हुआ बेहद चुनौतीपूर्ण समय था। अगर ब्रावो ने समय रहते अलार्म नहीं बजाया होता तो धुंआ हमारे कमरों में भी घुस जाता और नींद में हमें नुकसान पहुंचाता। ब्रावो ने विपरीत समय में समझदारी दिखाई, हमारी चिंता की, समय रहते हमें अलर्ट किया और हमारी जान बचा ली, आप हमारे हीरो हैं, ब्रावो..

राष्ट्रीय