भारतीय मूल की इंटर्न की हिंदू देवी-देवतओं के साथ तस्वीर, इसके पीछे NASA का यह दृष्टिकोण

भारतीय मूल की इंटर्न की हिंदू देवी-देवतओं के साथ तस्वीर, इसके पीछे NASA का यह दृष्टिकोण

नई दिल्ली। अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा ने भारतीय मूल की इंटर्न प्रतिमा रॉय की हिंदू देवी-देवतओं के साथ एक तस्वीर सोशल मीडिया पर पोस्ट की है। ट्विटर पर यूजर्स अलग-अलग तरह की प्रतिक्रियाएं दे रहे हैं। वही इस तस्वीर के पीछे नासा का तर्क बिल्कुल अलग ही है। दरअसल नासा के वैज्ञानिक हिंदू देवी देवताओं को एलियन की तरह मानते हैं। नासा की रिसर्च चोरी में ऐसा माना जाता है कि जिन हिंदू देवी देवताओं का वर्णन हिंदू धार्मिक साहित्य में मिलता है वह दरअसल परग्रही थे और पृथ्वी पर जीवन की उत्पत्ति के दौरान इन दूसरे ग्रह के वासियों ने ही यहां मानव समाज के विकास का रास्ता खोला था।

नासा ने इंटर्नशिप के लिए आवेदन मंगाने के लिए एक ट्वीट किया है, जिसमें अपने इंटर्न की तस्वीरें भी पोस्ट की हैं। इस ट्वीट में कई और इंटर्न के फोटो भी हैं। इस तस्वीर पर जहां कई लोग नासा की वैज्ञानिक सोच पर सवाल उठा रहे हैं, वहीं बड़ी संख्या में ऐसे भी लोग हैं, जो इसे अपने धर्म को मानने की आजादी करार दे रहे हैं।

नासा के ट्विटर हैंडल से पोस्ट की गई तस्वीर में भारतीय इंटर्न प्रतिमा रॉय देवी सरस्वती, देवी दुर्गा, भगवान राम-सीता की मूर्तियों और तस्वीरों के साथ नजर आ रही हैं। वहीं पर एक शिव लिंग भी रखा हुआ है। प्रतिमा के पास लैपटॉप रखा है, जिसमें नासा का लोगो दिख रहा है। प्रतिमा की टीशर्ट पर भी नासा का लोगो बना हुआ है। इस तस्वीर के पोस्ट होने के बाद कई लोगों ने नासा का मजाक उड़ाना शुरू कर दिया। यही नहीं कई लोगों ने ट्वीट करके हिंदू देवी देवताओं का भी मजाक उड़ाना शुरू कर दिया।


भारतीय मूल की बहनें प्रतिमा और पूजा राय नासा ग्लेन रिसर्च सेंटर में सॉफ्टवेयर इंजिनियर को-ऑप इंटर्न हैं। दोनों न्यूयॉर्क सिटी कॉलेज ऑफ टेक्नोलॉजी से पढ़ाई कर रही हैं। नासा ने एक ब्लॉग में दोनों से उनके अनुभवों को लेकर कुछ सवाल पूछे। प्रतिमा ने कहा कि वे भगवान में पूरी तरह यकीन करती हैं। उन्होंने कहा, ‘हम जो भी करते हैं, भगवान उसे देख रहा होता है और सपने वाकई में सच हो सकते हैं।’

अंतरराष्ट्रीय