NASA : पृथ्वी से 90 प्रकाश वर्ष दूर मिला नया एक्सोप्लैनेट, यहां के 24 दिनों जितना लंबा है वहां का एक साल

NASA : पृथ्वी से 90 प्रकाश वर्ष दूर मिला नया एक्सोप्लैनेट, यहां के 24 दिनों जितना लंबा है वहां का एक साल

NASA exoplanet TOI-1231 b : खगोलविदों ने पृथ्वी से 90 प्रकाश-वर्ष दूर स्थित एक एक्सोप्लैनेट की खोज की है जिसमें संभावित रूप से समृद्ध वातावरण है। इसके प्रारंभिक अध्ययन के आधार पर खगोलविद ऐसा मान रहे हैं कि इसमें पानी के बादल हो सकते हैं। नासा ने कहा कि नया खोजा गया एक्सोप्लैनेट पृथ्वी से साढ़े तीन गुना बड़ा है। यह कुछ-कुछ नेपच्यून की तरह नजर आता है। TOI-1231 b नाम का यह एक्सोप्लैनेट एक लाल-बौने तारे की परिक्रमा करता है, जो नासा के अनुसार, सूर्य की तुलना में छोटा, लेकिन लंबे समय से जीवित है।

NASA

https://exoplanets.nasa.gov/eyes-on-exoplanets

एक्सोप्लैनेट अपने सूर्य की परिक्रमा पूरी करने में 24 दिन का समय लेता है, यानी उसका एक साल हमारे 24 दिनों जितना लंबा है। तारे से निकटता के बावजूद, TOI-1231 b अपेक्षाकृत ठंडा है क्योंकि लाल-बौना तारा भी मंद है। नासा ने कहा कि एक्सोप्लैनेट वैज्ञानिकों को किसी अन्य तारे की परिक्रमा करने वाले समशीतोष्ण ग्रह के वातावरण के “बार-कोड” प्रकार के रीडिंग को पकड़ने का मौका दे सकता है। नासा के एक्सोप्लैनेट एक्सप्लोरेशन प्रोग्राम टीम की ओर से जारी एक बयान में कहा गया है कि, “यह आकाशगंगा में कहीं दूर जीवन की संभावना के साथ-साथ एक्सोप्लैनेट और ग्रह प्रणालियों की संरचना और गठन में संभावित गहरी अंतर्दृष्टि लाएगा।”

NASA

https://exoplanets.nasa.gov/

नासा ने कहा कि एक्सोप्लैनेट के अध्ययन में यहां के वातावरण में बादलों के साक्ष्य देखे हैं और ऐसे में यहां पानी के भी संकेत मिलते हैं। यह तारा और ग्रह प्रणाली पृथ्वी से दूर उच्च वेग से आगे बढ़ रही है। TOI-1231 b के वातावरण मे हाइड्रोजन परमाणुओं मौजूद हैं।

अंतरराष्ट्रीय विज्ञान तकनीकी