A Little Poetry : बता खुदा तुझे किस बात का बुरा लगा…VIDEO▶️

A Little Poetry : बता खुदा तुझे किस बात का बुरा लगा…VIDEO▶️

A Little Poetry : दौर ही कुछ ऐसा चल रहा है कि लोगों को एक महामारी पर कविता लिखी पड़ रही है। जरूरी भी है, सकारात्मक प्रेरणा ही इंसान को बीमारी की नकारात्मक ताकत से बचा सकती है। समाज के प्रबुद्ध वर्ग के लोग शब्दों के माध्यम से इस बीमारी के प्रति लोगों को लगातार जागरूक करने की दिशा में काम कर रहे हैं।

खबर को सुनने के लिए यहां क्लिक करें 👆🔈

युवा पत्रकार और साहित्यकार प्रशांत ‘यकीन’ अपने PP VLOGS के माध्यम से ऐसे ही विषय यूट्यूब पर लोगों के सामने लेकर आते हैं। अभी के हालात को बयां करते हुए प्रशांत ने एक ताजा कविता लिखी है जिसमें इस दौर का मर्म महसूस होता है।

प्रशांत कहते हैं- आज हर शख्स कोरोना त्रासदी के दंश से गुजर रहा है। हर तरफ अपनों के संक्रमित होने की खबर, अपनों के मौत की खबर… टीवी पर मौत की खबर, अखबारों में निधन समाचार और फेसबुक पर भी यही… हर तरफ सिर्फ बस यही…अस्पतालों में बेड नहीं, श्मशानों और कब्रिस्तान में जगह नहीं…

इस दर्द को समेटती हुई मेरी कविता मैंने आप सबके सामने रखी है। आज हर कोई इसी दर्द में गमजदा है और ऐसे में यह कविता दिल पर थोड़ा मरहम जरूर लगाएगी।

कथा साहित्य