Kanjana preservation Technique : सदियों पुरानी अफगानी कंजाना प्रिजर्वेशन तकनीक, इस तरह 6 माह तक ताजा रख सकते हैं फल, देखिए VIDEO

Kanjana preservation Technique : सदियों पुरानी अफगानी कंजाना प्रिजर्वेशन तकनीक, इस तरह 6 माह तक ताजा रख सकते हैं फल, देखिए VIDEO

Kanjana Preservation Technique: फलों और सब्जियों के परिरक्षण (Preservation) के लिए आज के दौर में हम रेफ्रिजरेटर और कोल्ड स्टोरेज का उपयोग करते हैं।

आमतौर पर रेफ्रिजरेटर में अधिकतम 1 सप्ताह तक किसी फल या सब्जी को ताजा रखा जा सकता है। कोल्ड स्टोरेज की भी अपनी एक सीमा होती है। ताजा फलों और सब्जियों के बड़ी मात्रा में परिरक्षण के लिए बहुत बड़े सेटअप की जरूरत होती है जो बहुत खर्चीला और बिजली से चलने वाला होता है, लेकिन एक बेहद पुरानी अफगानी तकनीक है जिसमें फलों को करीब 6 माह तक आराम से सुरक्षित और ताजा रखा जा सकता है। IFS सुशांत नंदा ने अपने ट्विटर पर एक वीडियो शेयर किया जिसमें फ्रिज नहीं बल्कि मिट्टी के अनोखे बर्तनों में फलों के संरक्षण की कमाल की टेक्निक देख आप भी दंग रह जाएंगे।

अफगानिस्तान में सैकड़ों साल पुरानी ‘कगीना’ नाम की एक तकनीक आज भी चलन में है जिसमें, मिट्टी का ऐसा फ्रिज बर्तन तैयार किया जाता है जिसमें लंबे समय तक फल और सब्जियां ताजा रहते हैं। इन मिट्टी के रेफ्रिजरेटर में बर्फ भले न जमती हो, लेकिन खाने पीने के सामान को उसकी गुणवत्ता के साथ सही सलामत रूप में लंबे समय तक इसमें प्रिजर्व कर रखा जा सकता है। मिट्टी और भूसे की मदद से बनाया जाने वाला ऐसा बर्तन जिसमें फलों को बंद कर अच्छे से मिट्टी से ही सील कर रख देने पर लगभग 6 महीनों तक वो अच्छी भली हालत में रह सकते हैं। 

कगीना टेक्निक से फलों को सुरक्षित करने का तरीका
वीडियो में दिखाया गया है। मिट्टी का बर्तननुमा पात्र अफगानिस्तान की सैंकड़ों साल पुरानी विरासत का नमूना है। चारों तरफ से मिट्टी से पूरी तरह बंद पात्र को को जब तोड़ा गया तो उसमें से अंगूर से ताज़े दाने रखे मिले, जिन्हें करीब 5 माह पहले इसमें भरकर रखा गया था।

सदियों पहले से अफगानिस्तान के उत्तरी ग्रामीण इलाकों में रहने वाले लोग फलों खास करके अंगूरों को एक मौसम से दूसरे मौसम तक सुरक्षित संरक्षित रखने के लिए इस तकनीक का इस्तेमाल करते आए हैं। विशेषज्ञ बताते हैं कि मिट्टी से बनाए जाने वाला पात्र ज़िपबैग की तरह काम करता है, जिसमें बाहर की हवा पानी फलों के संपर्क में नहीं आ पाता जिससे महीनों तक फल इसके अंदर सुरक्षित बने रहते हैं।

विज्ञान तकनीकी सोशल मीडिया