Health insurance: घंटी बजाकर दस्तक नहीं देती बीमारी, इसलिए जरूरी है हेल्थ पॉलिसी

Health insurance: घंटी बजाकर दस्तक नहीं देती बीमारी, इसलिए जरूरी है हेल्थ पॉलिसी

Health insurance: कई लोग अच्छी बचत करते हैं। वे लगातार निवेश भी करते हैं। इसके बावजूद वे हेल्थ पॉलिसी को जरूरी नहीं मानते हैं। इसकी वजह यह है कि जब तक जिंदगी में सबकुछ ठीक चल रहा होता है हमें मेडिक्लेम की जरूरत महसूस नहीं होती है, लेकिन स्वास्थ्य के बारे में किसी तरह का अनुमान नहीं लगाया जा सकता है।

बीमारी घंटी बजाकर दस्तक नहीं देती है। कई बार व्यक्ति के अचानक बीमार पड़ने पर उसकी बचत का काफी हिस्सा खर्च हो जाता है। मेडिक्लेम इस तरह की स्थिति में आपके लिए काफी मददगार साबित होता है। इसलिए हर व्यक्ति को मेडिक्लेम लेना चाहिए। आइए इसके बारे में ज्यादा जानने की कोशिश करते हैं।

क्या है हेल्थ इंश्योरेंस?
हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी आपके और बीमा कंपनी के बीच का एक करार है। इसमें आप एक प्रीमियम चुकाते हैं और उसके बदले बीमा कंपनी आपको किसी बीमारी की स्थिति में पहले से तय रकम के अनुसार इलाज का खर्च देती है।

हेल्थ इंश्योरेंस के फायदे

कम प्रीमियम
अगर आप युवा हैं और शारीरिक रूप से फिट हैं तो आपको बहुत मामूली प्रीमियम पर हेल्थ पॉलिसी मिल जाती है। जब आपकी उम्र बढ़ती है तो स्वास्थ्य बिगड़ने का खतरा बना रहता है, उस हिसाब से हेल्थ पॉलिसी का प्रीमियम भी बढ़ता रहता है।

Income Tax में बचत
हेल्थ पॉलिसी का प्रीमियम चुकाने पर आपको Income Tax कानून के सेक्शन 80D के तहत 25000 रुपए के प्रीमियम पर इनकम टैक्स बचाने में मदद मिलती है।

वेटिंग पीरियड 30 दिनों का

अधिकतर हेल्थ पॉलिसी में वेटिंग पीरियड होता है। मतलब आप हेल्थ पॉलिसी खरीदने के बाद कुछ दिनों तक होने वाली बीमारी के इलाज के लिए रकम पाने का दावा नहीं कर सकते। आम तौर पर वेटिंग पीरियड 30 दिनों का होता है। अगर आपने युवावस्था में ही हेल्थ पॉलिसी ले ली तो आपको वेटिंग पीरियड की औपचारिकता पूरी करने की जरूरत नहीं रह जाएगी। जब आपको हेल्थ पॉलिसी में इलाज के लिए रकम क्लेम करने की जरूरत पड़ेगी, तब तक आपकी यह अवधि पूरी हो चुकी होगी।

जल्द हस्तक्षेप
हेल्थ पॉलिसी खरीदेंगे तो आप चिंतामुक्त होकर जीवन जी सकेंगे। अगर आपको पता लगा कि आपको कोई बीमारी है और आप तब हेल्थ पॉलिसी लेने जायेंगे तो उस वक्त हेल्थ पॉलिसी खरीदना मुश्किल हो सकता है। आप स्वस्थ रहते हुए ही हेल्थ पॉलिसी ले सकते हैं। वास्तव में आज के दौर में हेल्थ पॉलिसी बाकी चीजों की तरह ही जरूरी है। अगर आप वित्तीय योजना बनाने के लिए किसी एडवाइजर के पास जाते हैं तो वे आपको सबसे पहले जीवन और स्वास्थ्य बीमा पॉलिसी खरीदने की सलाह देते हैं। यह वित्तीय लक्ष्य के हिसाब से की गई आपकी बचत को छुए बिना आपकी बीमारी के इलाज में मदद पहुंचाता है।

वाणिज्य- व्यापार स्वास्थ्य