Goodwill Mission: सात समंदर की यात्रा पर INS Tabar, कई देशों का करेगा सफर

Goodwill Mission: सात समंदर की यात्रा पर INS Tabar, कई देशों का करेगा सफर

Goodwill Mission: INS Tabar: नौसेना का जलपोत आईएनएस ताबर INS Tabar सितंबर के आखिर तक अफ्रीका और यूरोप के कई बंदरगाहों की यात्रा करेगा। इस जलपोत ने 13 जून से यह दीर्घावधि यात्रा शुरू की। इस दौरान आईएनएस तबर प्रोफेशनल, सामाजिक और अन्‍य गतिविधियों का संचालन करेगा। यह कई मित्र देशों की सेनाओं के साथ संयुक्‍त अभ्‍यास में भी शामिल होगा। इस लंबी यात्रा के दौरान आईएनएस तबर अदन की खाड़ी, लाल सागर, स्‍वेज नहर, भूमध्‍य सागर और बाल्टिक सागर से होकर गुजरेगा।

आईएनएस तबर (एफ44) भारतीय नौसेना के तलवार-श्रेणी का तीसरा युद्धपोत है। 19 अप्रैल 2004 को कमीशन किया गया था। आईएनएस ताबर, तलवार श्रेणी का एक पोत है जो सुपरसोनिक ब्रह्मोस एंटी-शिप क्रूज मिसाइलों से लैस होगा। वह बराक 1 मिसाइलों से भी लैस है। तबर के वर्तमान कमांडिंग ऑफिसर (सीओ) कैप्टन मानव सहगल हैं।

आईएनएस ताबर 31 जुलाई 2004 को मुंबई के अपने होम-पोर्ट पर पहुंचा। आईएनएस तलवार और आईएनएस त्रिशूल के साथ, आईएनएस ताबर को भारतीय नौसेना के पश्चिमी नौसेना कमान को सौंपा गया है। इसका मुख्यालय मुंबई में है। आईएनएस ताबर एक सुसज्जित युद्धपोत है जिसमें हवाई/सतह/उप-सतह मिशनों को संभालने या समुद्री मिशनों पर स्वतंत्र रूप से संचालन करने या एक बड़े नौसेना टास्क फोर्स का समर्थन करने की क्षमता है। कुछ समय पहले इस जहाज ने सद्भावना मिशन पर फारस की खाड़ी के विभिन्न बंदरगाहों का दौरा किया है और यह यात्रा अत्यधिक सफल रही है। जहाज ने विशाखापत्तनम में अंतर्राष्ट्रीय फ्लीट रिव्यू में भी भाग लिया। इसने हाल ही में मॉरीशस राष्ट्रीय दिवस समारोह में भाग लेने के लिए पोर्ट लुइस का दौरा किया। यह जहाज मोड़ रूप से सद्भावना मिशन के लिए ही काम करता है और यह इसी मिशन पर विश्वव्यापी यात्रा कर रहा है।

और बेहतर अनुभव के लिए हमारा मोबाइल ऐप डाउनलोड करें📲

राष्ट्रीय शोध अनुसंधान