रणबीर शर्मा मंत्रालय में बनाए गए संयुक्त सचिव, गौरव सिंह होंगे सूरजपुर के नए कलेक्टर

रणबीर शर्मा मंत्रालय में बनाए गए संयुक्त सचिव, गौरव सिंह होंगे सूरजपुर के नए कलेक्टर

रायपुर। Chhattisgarh : लॉकडाउन के दौरान निरीक्षण पर निकले सूरजपुर कलेक्टर रणबीर शर्मा द्वारा युवक को पीटे जाने का वीडियो वायरल होने के बाद उन्हें राज्य सरकार ने सूरजपुर कलेक्टर पद से हटाते हुए उनका स्थानांतरण मंत्रालय में कर दिया है। उन्हें मंत्रालय में संयुक्त सचिव पद की जिम्मेदारी दी गई है। उनकी जगह पर रायपुर के जिला पंचायत सीईओ गौरव कुमार सिंह को सूरजपुर का नया कलेक्टर बनाया गया है। गौरव कुमार सिंह साल 2013 बैच के आईएएस अफसर हैं।

भारतीय प्रशासनिक सेवा के दो अधिकारियोें की नवीन पदस्थापना आदेश रविवार को जारी किया गया है। जिसके तहत रायपुर जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी गौरव कुमार सिंह को सूरजपुर जिले का नया कलेक्टर पदस्थ किया गया है। वही रणबीर शर्मा को कलेक्टर सूरजपुर से स्थानांतरित करते हुए तत्काल प्रभाव से मंत्रालय में संयुक्त सचिव के पद पर पदस्थ किया गया है।

बता दें कि कलेक्टर रणबीर शर्मा शनिवार को संपूर्ण लॉकडाउन का निरीक्षण करने सूरजपुर शहर में निकले थे। इसी दौरान अपने परिजन को भोजन पहुंचाने अस्पताल जा रहे एक युवक को टीम ने रोका तो युवक ने अस्पताल की पर्ची दिखाई थी। इसके बाद कलेक्टर को इस बात की आशंका हुई कि उनका वीडियो युवक ने अपने कैमरे में कैद किया है। इस बात से नाराज होकर सूरजपुर कलेक्टर ने युवक का मोबाइल फोन छीन कर उसे तोड़ दिया और युवक को एक जोरदार थप्पड़ मार दिया था इसके बाद पुलिस कर्मियों ने भी युवक की पिटाई की थी। इस घटनाक्रम का किसी ने वीडियो बना लिया जिसे सोशल मीडिया पर शेयर किया गया। घटना के बाद सूरजपुर कलेक्टर की जमकर आलोचना होने लगी। रणबीर शर्मा इससे पहले भी विवादों में आ चुके हैं। 2012 बैच के आईएएस अफसर रणबीर शर्मा को साल 2015 में कांकेर में पदस्थापना के दौरान एंटी करप्शन ब्यूरो ने घूस लेते रंगे हाथों पकड़ा था।

सीएम भूपेश बघेल ने इस घटना पर ट्वीट करते हुए कहा कि ‘सोशल मीडिया के माध्यम से सूरजपुर कलेक्टर रणबीर शर्मा द्वारा एक नवयुवक से दुर्व्यवहार का मामला मेरे संज्ञान में आया है। यह बेहद दुखद और निंदनीय है। छत्तीसगढ़ में इस तरह का कोई कृत्य कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। इसके बाद तत्काल प्रभाव से कलेक्टर रणबीर शर्मा को सूरजपुर कलेक्टर पद से हटा दिया गया और उन्हें मंत्रालय में अटैच किया गया है।

सीएम भूपेश बघेल ने अपने ट्वीट में आगे कहा है कि किसी भी अधिकारी का शासकीय जीवन में इस तरह का आचरण स्वीकार्य नहीं है। इस घटना से क्षुब्ध हूँ। मैं नवयुवक व उनके परिजनों से खेद व्यक्त करता हूँ।

बता दें कि जिस युवक के साथ कलेक्टर ने मारपीट की उसके बारे में बताया जा रहा है कि उसकी दादी सूरजपुर के शासकीय अस्पताल में भर्ती हैं। अस्पताल में मौजूद अपने पिता और दादी के लिए वह युवक भोजन लेकर घर से जा रहा था। इसी दौरान कलेक्टर की टीम से उसका सामना हो गया और वह इस घटना का शिकार हो गया।

छत्तीसगढ़ रायपुर