भारतीय तीरंदाज दीपिका कुमारी ने पेरिस में स्वर्ण पदक पर साधा निशाना

भारतीय तीरंदाज दीपिका कुमारी ने पेरिस में स्वर्ण पदक पर साधा निशाना

पेरिस। भारत की दीपिका कुमारी ने फ्रांस के पेरिस में 2021 हुंडई तीरंदाजी विश्व कप के तीसरे चरण में रिकर्व महिला स्पर्धा में अपनी जीत के साथ रविवार दोपहर को स्वर्ण पदकों का एक ट्राइफेक्टा पूरा किया। दुनिया की तीसरे नंबर की खिलाड़ी ने रूस की एलेना ओसिपोवा को सीधे सेटों में हराकर तीसरा खिताब अपने नाम किया। इस मौके पर दीपिका कुमारी ने कहा, “मैं खुश हूं, लेकिन साथ ही मुझे अपना प्रदर्शन इसी तरह जारी रखना है।” “मैं इसमें सुधार करना चाहती हूं, क्योंकि आगामी टूर्नामेंट हमारे लिए बहुत महत्वपूर्ण है। मैं जो कुछ भी सीख सकती हूं उसे जारी रखने की पूरी कोशिश कर रही हूं।”

आगामी टूर्नामेंट, निश्चित रूप से, टोक्यो 2020 ओलंपिक खेल हैं, जो एक महीने से भी कम दूर है। दीपिका कुमारी जापान में अकेली महिला तीरंदाज के रूप में भारत का प्रतिनिधित्व करेंगी, इसके साथ ही वे दुनिया के सबसे बड़े खेल आयोजन में देश का पहला तीरंदाजी पदक जीतने का प्रयास करेंगी।

चार्लीटी स्टेडियम के मैदान में रविवार को उनके प्रदर्शन से पता चलता है कि वह जापान में पदक की दावेदार होंगी। दीपिका कुमारी ने सेमीफाइनल में मैक्सिको की एना वाज़क्वेज़ को 6-2 से हराया। दीपिका ने सुबह के पहले मैच में मैक्सिको को हराया, और ओसिपोवा को डेड-सेंटर 10 मारकर अपना चौथा करियर व्यक्तिगत जीत लिया।

दीपिका इससे पहले अंतरराष्ट्रीय सर्किट में जीत चुकी हैं और सोमवार को नई रैंकिंग सूची जारी होने पर उनका नाम विश्व की टॉप टीम रैंकिंग खिलाड़ियों में से एक होने की उम्मीद है।

वर्तमान में दीपिका का सबसे बड़ा लक्ष्य भारत के लिए तीरंदाजी में टोक्यो ओलंपिक में पदक हासिल करना है। उन्होंने कहा “हमारे देश के पास तीरंदाजी में कोई ओलंपिक पदक नहीं है। ओलंपिक पदक जीतना बहुत महत्वपूर्ण है, मैं यह जीतने के लिए पूरे ताकत के साथ प्रयास करूंगी। यह स्पर्धा मेरे लिए बहुत महत्वपूर्ण है।”

खेल मल्टीमीडिया राष्ट्रीय