Chhattisgarh : एक वर्षीय मेडिकल कोर्स को मंजूरी, कोरोना संक्रमण को देखते हुए सरकार ने लिया फैसला

Chhattisgarh : एक वर्षीय मेडिकल कोर्स को मंजूरी, कोरोना संक्रमण को देखते हुए सरकार ने लिया फैसला

रायपुर। Chhattisgarh : Coronavirus संक्रमण के दौर में चिकित्सकीय सेवा में बुनियादी तौर पर मजबूती लाने के लिए सरकार ने एक महत्वपूर्ण फैसला लिया है। राज्य में विभिन्न अस्पतालों में चिकित्सा सेवा देने के लिए 1 वर्षीय चिकित्सा पाठ्यक्रम के तहत चिकित्सा सहायक तैयार किए जाएंगे।इमरजेंसी केयर टेक्निशियन नाम से शुरू होने जा रहा यह पाठ्यक्रम राज्य के छह मेडिकल कॉलेजों में संचालित किया जाएगा। इस पाठ्यक्रम में 12वीं में मेरिट के अंकों के आधार पर प्रवेश मिलेगा।
इस 1 वर्षीय पाठ्यक्रम में अभ्यर्थियों को आपातकालीन चिकित्सा उपकरणों के संचालन और महामारी नियंत्रण के बुनियादी तत्वों का प्रशिक्षण दिया जाएगा। पिछले दिनों आपातकालीन चिकित्सा में स्टाफ की कमी की वजह से आ रही दिक्कतों को देखते हुए चिकित्सा शिक्षा विभाग ने इस 1 वर्षीय पाठ्यक्रम का खाका तैयार किया था, जिसे राज्य सरकार की ओर से अब मंजूरी मिल गई है।राजधानी रायपुर बिलासपुर अंबिकापुर जगदलपुर रायगढ़ और राजनांदगांव मेडिकल कॉलेज में यह पाठ्यणक्रम संचालित किए जाएंगे। सभी मेडिकल कॉलेज में पांच- पांच सीटों पर इस पाठ्यक्रम के संचालन की अनुमति दी गई है। इस पाठ्यक्रम के लिए प्रवेश की प्रक्रिया इसी माह 20 तारीख से शुरू हो जाएगी। 31 मई आवेदन की अंतिम तिथि तय की गई है। 5 जून को मेरिट सूची जारी होगी। 10 से 13 जून के बीच प्रवेश की प्रक्रिया पूरी की जाएगी और 15 जून से पाठ्यक्रम का विधिवत संचालन सभी 6 मेडिकल कॉलेज में शुरू हो जाएगा। पाठ्यक्रम में प्रवेश के लिए शैक्षणिक मापदंड जीव विज्ञान, भौतिक विज्ञान और रसायन विज्ञान विषय के साथ 12वीं कक्षा पास होना आवश्यक है। प्राप्त होने वाले आवेदनों में से मेरिट सूची के आधार पर पहले चरण में कुल 30 अभ्यर्थियों का चयन किया जाएगा।

छत्तीसगढ़ रायपुर