Chhattisgarh Calendar 2022: गर्व से भरी इनकी मुस्कान बता रही है कि सकारात्मक सोच के साथ बदल रहा है छत्तीसगढ़

Chhattisgarh Calendar 2022: गर्व से भरी इनकी मुस्कान बता रही है कि सकारात्मक सोच के साथ बदल रहा है छत्तीसगढ़

रायपुर। Chhattisgarh calendar 2022: छत्तीसगढ़ सरकार का साल 2022 का कैलेंडर कई मायनों में बेहद खास है। इस कैलेंडर में राज्य सरकार के ग्रामीण विकास मॉडल की झलकियां तो नजर आ ही रही हैं साथ ही कुछ ऐसी तस्वीरें भी हैं जो अलग-अलग रूप में छत्तीसगढ़ी समाज में आ रहे सकारात्मक बदलावों को प्रदर्शित करती हैं।

इन्हीं में से एक है ट्रांसजेंडर युवा सिपाहियों की टीम की तस्वीर। इस तस्वीर में वर्दी में सजे ट्रांसजेंडर युवाओं के चेहरे की मुस्कान, तस्वीर देखने वाले को गर्व से भर देती है। इस तस्वीर को देखकर इस बात पर गर्व होता है कि हमारा समाज अब लिंग भेद से परे उठकर परिपक्वता वाली सोच प्रदर्शित कर रहा है।

छत्तीसगढ़ सरकार के सालाना कैलेंडर में जगह मिलने पर ट्रांसजेंडर आरक्षकों ने प्रदेश सरकार को बधाई देते हुए कहा कि लोग जब इस कैलेंडर को देखेंगे तो समाज में ट्रांसजेंडर समुदाय के लोगों के लिए उनके मन में सकारात्मक सोच आएगी, समानता के इस अधिकार से इस वर्ग में बेहद खुशी है। आरक्षक ने कहा कि हमें मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के कार्यकाल में सम्मान मिला। उन्हीं की सोच से यह कार्य संभव हो पाया है। नियुक्ति के बाद अब हम पूरे मनोयोग से अपनी सेवाएं दे रहे हैं।

सरकार की पहल की तारीफ करते हुए पूर्व स्पेशल डीजी आरके विज ने कहा कि राज्य सरकार के कैलेंडर में ट्रांसजेंडर समुदाय के युवाओं को वर्दी में देखकर गर्व महसूस हो रहा है। इस समुदाय के लिए समाज में सम्मान और बराबरी का दर्जा हासिल करने का संघर्ष बहुत लंबा रहा है। पुलिस विभाग में उनकी नियुक्ति यह दर्शाती है कि अब समाज में बदलाव का दौर है। ट्रांसजेंडर समुदाय भी अवसर की समानता के साथ-साथ समाज में उसी सम्मान का हकदार है जो किसी महिला या पुरुष का मिलता है।

आईपीएस रत्ना सिंह ने कहा कि कैलेंडर में जब लोग ट्रांसजेंडर आरक्षकों को देखेंगे तब समाज में सकारात्मक सोच सामने आएगी। समानता के इस अधिकार से इस वर्ग में बेहद खुशी है। ट्रांसजेंडर पुलिस ग्रुप हर जगह हमारी मदद कर रहे हैं। पुलिस प्रशासन ने उन्हें और उनके कामों को पूर्ण रूप से स्वीकार किया है।

छत्तीसगढ़ में पुलिस महकमे ने एक तरह से ट्रांसजेंडर समुदाय के युवा सिपाहियों को पूरी सहजता के साथ सह कर्मियों के रूप में स्वीकार लिया है। पुलिस विभाग के महिला व पुरुष कर्मी अपने नए ट्रांसजेंडर सहकर्मियों के साथ सम्मान पूर्वक कंधे से कंधा मिलाकर काम कर रहे हैं। नवनियुक्त सिपाहियों को जो जिम्मेदारियां दी गई हैं, उनका बखूबी निर्वहन भी कर रहे हैं, जिनसे उनके प्रति सह कर्मियों के मन में सम्मान बढ़ा है। वरिष्ठ अधिकारियों ने भी उनके कार्य से पूरी तरह संतोष जताया।

देश में ट्रांसजेंडर समुदाय की स्थिति को सुधारने के लिए कुछ वर्षों पहले ही चिंतन का दौर शुरू हुआ था। इसके बाद केंद्रीय स्तर पर कानून में बदलाव हुए। केंद्रीय स्तर पर की गई इस सकारात्मक पहल को लेकर छत्तीसगढ़ सरकार ने तेजी के साथ काम किया और अब राज्य में तृतीय लिंग समुदाय के लोगों का तेजी के साथ विकास हो रहा है।

अवसर की समानता के साथ-साथ रोजगार के नए अवसर से ट्रांसजेंडर समुदाय के युवाओं को जोड़ा जा रहा है। इन्हीं में से कुछ होनहार युवा पिछले दिनों राज्य सरकार की पहल पर पुलिस विभाग में आरक्षक के रूप में भर्ती हुए हैं। राज्य सरकार के सालाना कैलेंडर में छपी इनकी गर्व से भरी तस्वीर समाज में समरसता की भावना जगाएगी साथ ही ट्रांसजेंडर भर के युवाओं को आगे बढ़कर अपने पैरों पर खड़े होने और गर्व से भरा जीवन जीने का हौसला देगी।

Amazon Store अभी खरीदें shop now
छत्तीसगढ़ रायपुर विशेष आलेख